नीम के जूस बनाने के तरीके | नीम का जूस कैसे बनाये | How to make neem juice in hindi

How To Make Neem Juice In Hindi
नीम के जूस बनाने के तरीके 
आज हम लोग बात करेंगे कि नीम का जूस कैसे बनाये जाते है। नीम के जूस स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है। यह पीने में कड़वा लगता है। लेकिन शरीर में कई प्रकार की परेशानियों को दूर करने में सहायक है। खास तौर पर त्वचा और डायबिटीज के मरीजों के फायदेमद है।
 
आप लोग सोच रहे होंगे कि नीम का जूस कैसे बनाया जाता है। अगर आप लोग नीम का जूस बनाने के तरीके के बारे में जानना चाहते है तो यह आपके लिए है। 

नीम का जूस पीने से कील मुहाँसो से छुटकारा मिल जाता है। यह शरीर को कई प्रकार की परेशानियों से दूर रखने में मदद करता है। तो आइये देखते है नीम का रस कैसे बनाए। 

नीम का जूस कैसे बनाये - How to make neem juice in hindi - 


नीम का  जूस बनाना बहुत ही आसान है। इस कोई भी आसानी से बना सकता है। तो आइये देखते है। नीम के जूस कैसे तैयार करे। 

सामग्री - 

मुलायम नीम की 8 से 10 पत्तिया ले। 

साफ पानी ले। 

नीम का जूस बनाने की विधि -


1- नीम का जूस बनाने के लिए नीम की पत्तियों को अच्छी तरह साफ़ पानी से धोए। 
2- पत्तियों को अच्छी तरह कूट ले। 
3- कुटे हुए पत्तियों को मिक्सर में डाले। इसके ऊपर साफ़ पानी 250 ml डालें। 
4- नीम की पत्तियों और पानी को ग्राइंडर में डालकर ग्राइंड कर ले। 
5- फिर छलनी में अच्छी तरह छान ले। 
6- नीम जूस यानी रस बनकर तैयार है। 
7- ग्लास में लेकर पी सकते है। 

ध्यान देने योग्य बातें -

नीम का जूस पीने में बहुत ही ज्यादा कड़वा होता है। इसके पीने से जी मिचलाने की परेशानी हो सकती है। इसलिए आवश्यकता से अधिक नही पीना चाहिए। इसको पीने से पहले किसी आयुर्वेदा चार्य से सलाह आवश्य ले। 

नीम के जूस पीने के फायदे - 


नीम का जूस पीने के फायदे कई सारे है। नीम का जूस पीने से कई प्रकार की शारीरिक समस्याओं में राहत मिलती है। यह स्वाद में भले ही कड़वा होता है। लेकिन सेहत के हिसाब से लाभदायक होता है। इसलिए आइये देखते है। नीम के रस के लाभ क्या है। 

नीम क  जूस के फायदे त्वचा के लिए - नीम का जूस त्वचा के लिए लाभकारी होता है। इसके सेवन से त्वचा सम्बंधित विकारों में राहत पहुँचती है। यह त्वचा को चमक दार और स्वस्थ बनाये रखने में मदद करती है। 

नीम के जूस के फायदे फोड़े फुन्सी से राहत दिलाए - नीम का जूस पीने से फोड़े फुन्सी नहीं होते है। अगर बार बार फोड़े और खुजली के परेशानी से परेशान है तो नीम के जूस का सेवन करना चाहिए। 

नीम के रस फायदे दूषित रक्त के लिए - ऐसा माना जाता है। कि नीम का रस सेवन करने से रक्त की सफाई हो जाती है। जिससे त्वचा सम्बंधित रोग नहीं होते है। त्वचा पर चक्क्ते, खुजली, फोड़े की परेशानी रक्त दूषित होने में पर होने लगाती है। ऐसे में नीम के जूस का सेवन लाभकारी होता है। 

नीम के जूस के लाभ डायबिटीज के लिए - नीम के जूस का सेवन डायबिटीज मरीजों के लिए लाभकारी होता है। इसके सेवन से रक्त में शक्कर की मात्रा सामान्य रहती है। शुगर के मरीजों इसका सेवन कर सकते है। 

नीम के जूस में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते है जो त्वचा के लिए लाभकारी है।


 आखिर में - 

अब आप लोग समझ गए होंगे कि नीम का जूस कैसे बनाये जाते है। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां