भारत में मनाये जाने वाले फसल त्योहार - Indian harvest festival in hindi


harvest festival in india, harvest festival of india in hindi


फसल उत्सव का उदेश्य, हार्वेस्ट फेस्टिवल क्या है ? - Conclusion for harvest festival in hindi -

Indian harvest festival - जैसे की नाम से ही पता चल रहा है। हार्वेस्ट Harvest का हिंदी में मतलब होता है कटाई यानि फसल की कटाई और फेस्टिवल Festival का मतलब 'त्योहार' होता है। यानि जो त्योहार फसल कटाई के ख़ुशी में मनाया जाय उसे हार्वेस्ट फेस्टिवल कहते है।

इस दौरान किसान अपनी फसल की कटाई करने के बाद अन्न को अपने घरो में ले आते है। इसके बाद उसी की खुशी में यह पर्व मनाया जाता है। 

पहले सभी लोंगो का जीवन कृषि पर ही निर्भर रहता था। जब अच्छी पैदावार होती थी लोग अपनी खुशी का इजहार फसल उत्सव के रूप में करते थे। उस अन्न को रख कर पूरे साल कहते थे।

इसके अलावा उनका आर्थिक स्थिति भी इसी पर निर्भर करती थी। अगर भारत की बात करे तो यह किसानों का देश है। यहां की जीविका का मुख्य श्रोत कृषि ही है।  

इस त्योहार को भारत के अलग अलग राज्यों में अलग अलग नाम से मनाया जाता है। जोकि सुख संवृद्धि शांति का प्रतिक है। इसके अलावा दुनिया के अन्य देशो में भी इसे मनाया जाता है। लेकिन हेल्थजूक के इस लेख में भारत के हार्वेस्ट फेस्टिवल (फसल कटाई का त्योहार) के बारे में बात करेंगे। 

भारत में मनाये जाने वाले फसल त्यौहार - Indian Harvest Festival In Hindi -

वैसे तो भारत में बहुत सारे त्योहार मनाये जाते है। लेकिन इन्ही त्योहारों में कुछ फसल त्यौहार होता है। जो फसल की कटाई के बाद मनाया जाता है। तो आइये देखते है। भारत में मनाये जाने वाले फसल पर्व कौन-कौन से है। 

मकर संक्रांति -

मकर संक्रांति नार्थ भारत में मनाया जाने वाला प्रमुख त्योहार है जो बहुत ही हर्षो उल्लास से मनाया जाता है। यह त्योहार उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, मध्य प्रदेश में मनाया जाता है। इसके अलावा गुजरात में पतंग बाजी भी इसका मुख्य आकर्षण है।

यह त्योहार सर्दी के मौसम नये साल के पहले महीने जनवरी दूसरे सप्ताह में मनाया जाता है। यह धान की फसल कटने के बाद मनाया जाता है। इस दिन लोग पवित्र नदियों में भी स्नान करते है। इस पर्व में गुड़, लाई, चुरा, गुड़ तिल  से बने मिठाइयां खाते है।  

लोहड़ी पंजाब का फसल उत्सव -

लोहरी का त्योहार 13 जनवरी को मनाया जाता है। यह मुख्यतः पंजाब प्रांत में सबसे ज्यादा मनाया जाता है। इस त्योहार में रेवड़ी, गुड़, मक्का का लावा, का प्रसाद एक दूसरे को देते है और खाते है। इस त्योहार में बड़े, बुजुर्ग, बच्चे, महिलाये लोहरी यानि अग्नि जलाकर मनाते है। 

बिच में लोहरी और उसके चारो तरग लोग खड़े हो जाते है। इसके अलावा गीत संगीत जो उनके परम्परा अनुसार होता है। उसे भी गाते है। यह त्योहार प्रेम और भाई चारे का प्रतिक है। यह आपसी सम्बन्ध और प्रेम को मजबूत बनाता है। 

पोंगल दक्षिण भारत (तमिलनाडु ) फसल उत्सव -

पोंगल दक्षिण भारत का सबसे प्रमुख फेस्टिवल है। यह त्योहार तमिलनाडु में खासकर बहुत ही धूम धाम से मनाया जाता है। जब सूर्य उत्तरायण होते है। उसी समय यह पर्व मनाया जाता है। यह चार दिन चलता है। इसमें विशेष कर भगवान सूर्य की पूजा की जाती है। 

जब किसान खेती का कार्य पूरा कर लेते है। और अनाज को घर पर ले आते है और अन्न से उनका घर भर जाता है। उसी के खुशी में यह पर्व मनाया जाता है। इस पर्व में नये चावल की खीर बनायीं जाती है। जिसे लोग खाते है। यह जीवन में मिठास और प्रेम का प्रतिक है। फसल कटने पर मनाये जाने वाले उत्सव 

ओणम केरला का फसल उत्सव - 

ओणम केरला का सबसे प्रमुख फसल उत्सव त्योहार है। जो बहुत ही हर्षो उल्लास के साथ मनाया जाता है। यह केरला में फसल उत्सव के रूप में मनाया जाता है। यह फेस्टिवल १० दिन तक मनाया जाता है। यह अगस्त या सितम्बर महिने में मनाया जाता है।

इसमें नृत्य और संगीत का कार्य भी आयोजन किया जाता है। इसमें नौका रेस का भी आयोजन किया जाता है। यह त्यौहार एकजुटता, सुख सम्बृद्धि का प्रतिक है। 

बिहू असम का फसल उत्सव -

यह असम के प्रमुख त्योहारों एक है। यह त्योहार फसल की कटाई के बाद मनाया जाता है। जिस दिन यहां के लोग अपने इष्ट देव ब्री सीब्रा की पूजा करते है। यह त्योहार हर वर्ष अप्रैल के महीने में मनाया जाता है। पूरे महीने इस त्योहार को मनाया जाता है।

यह हार्वेस्ट फेस्टिवल वहा के लोंगो के लिए सुःख शान्ति और आपसी भाई चारे को बढ़ाता है। असम के स्थानीय लोंगो में इस फेस्टिवल का बहुत बड़ा महत्व है। 

वैसाखी पंजाब का फसल उत्सव -

वैसाखी का त्योहार बहुत ही धूम धाम से मनाया जाता है। खासकर पंजाब में यह बहुत ज्यादा प्रचलित है। यह फेस्टिवल भी गेहु कटाई के समय मनाया जाता है।

यह अप्रैल के महीने में मनाया जाता है। इस दिन लोग अपनी ख़ुशी एक दूसरे से बाटते है। यह त्योहार खासकर पंजाब के गाँवो में मनाया जाता।  इसके अलावा भारत के अन्य हिस्सों में भी मनाया जाता है। 

नुआखाई उड़ीसा का फसल उत्सव -

नुआखाई उड़ीसा में फसल त्योहार के रूप में मनाया जाता है। यह गणेश चतुर्थदसी यह फेस्टिवल वहा के स्थानीय लोंगो में प्रचलित है फसल की कटाई मनाया जाता है। इस त्योहार में वहा के स्थानीय नृत्य और संगीत भी आयोजन किया जाता है। 

यह नये धान और चावल के होने पर उत्साह के रूप मनाया जाता है। यह स्थानीय लोंगो में सद्भावना और प्रेम को बढ़ाता है। इस दिन नये कपडे और पारम्परिक वेशभूषा में सजकर महिलाये और पुरुष नृत्य और संगीत करते है। 

 नबना बंगाल का फसल उत्सव -  

नबना यह बंगाल का फसल त्योहार है। इसमें बंगाल के लोग नये अन्न यानि चावल होने के ख़ुशी में यह फेस्टिवल मनाया जाता है। बंगाली में नोबो अन्नो कहते है।

जिसे हिंदी में नया चावल कह सकते है। इसमें चावल से खास तरह के प्रसाद बनाये जाते है। और माता लक्ष्मी को चढ़ाया जाता है यानि धन्यवाद प्रगट करते है। इसके अलावा स्थानिय नृत्य और संगीत के कार्य क्रम का आयोजन भी किया जाता है। 

 गुड़ी पड़वा महाराष्ट्र का फसल उत्सव -

गुड़ी पड़वा महाराष्ट्र में मनाया जाता है। यह त्योहार चैत्र महीने के पहले दिन मनाया जाता है। यह पर्व फसल उत्सव के रूप में मनाया जाता है। यह फसल पकने के लिए ख़ुशी के तौर पर मनाया जाता है।

इस दिन लोग तरह तरह के पकवान बना कर खाते है। और एक दूसरे में स्नेह और प्रेम बाटते है इस पर्व का महत्व स्थानीय लोंगो के लिए अधिक होता है। यह सुख संवृद्धि को बढ़ाता है। 


निष्कर्ष - Conclusion 

हार्वेस्ट फेस्टिवल एक फसल उत्सव के रूप में मनाया जाता है। अगर भारत की बात करे तो हर राज्य का अपना अलग फसल पर्व होता है। जो अपने संस्कृति और परम्परा के अनुसार लोग मनाते है।

क्योकि अन्न की पूजा करके ईश्वर को धन्यवाद देते है। और खुशी का इजहार करते है। और अपने अच्छे जीवन की कामना करते है। यह फसल उत्सव भारत के अन्य देशों में भी अपने अपने तरीके से मनाया जाता है। जो सुख संवृद्धि और शांति का प्रतिक है। 

अब आप समझ गए होंगे कि भारत में मनाये जाने वाले फसल त्योहार किसे कहते है। और यह Indian harvest festival क्यों मनाये जाते है। 

अगर आप किसी प्रकार की सुझाव या राय देना चाहते है तो कमेंट करके बता सकते है। 


अन्य सम्बधित लेख पढ़े -

अरूणांचल प्रदेश में मनाये जाने वाले त्योहार

मणिपुर में मनाये जाने वाले त्योहार

जीरो म्यूजिक फेस्टिवल

 होली का त्योहार

महाशिवरात्रि पर्व 



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ