Mooli Ke Fayde - मूली खाने के फायदे सेहत के लिए

Mooli Ke Fayde -  मूली खाने के फायदे सेहत के लिए
Mooli Ke Fayde
आज हमलोग बात करेंगे 'मूली के फायदे' और गुण के बारे में। मूली के बारे में आप लोग तो जानते है। यह एक आम सब्जी है जिसे हर कोई सलाद के लिए जानता है। इसका जड़ यानि मूल खाने के लिए उपयोग किया जाता है। यह बाजार में आसानी से मिल जाती है।

यह कही भी आसानी से उपलब्ध होती है। लेकिन क्या आप मूली के फायदे के बारे में जानते है (What is benefits of muli in hindi) मूली के बहुत सारे फायदे है जो हमारे शरीर को लाभ पहुंचाते है। 

मूली के बीज, इसकी पत्तिया भी काम आती है। इसके पत्तियों को सलाद में या साग बनाकर खा सकते है। इसलिए मूली खाना भी स्वास्थ के लिए अच्छा है। 

इसमें फैट्स की मात्रा बहुत ही कम पायी जाती है। कैल्शियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस पाया जाता है। इसके आलावा विटामिन्स C पाया जाता है। तो आइये देखते है। Muli ke fayde और गुण के बारे में। 

मूली खाने के फायदे | Muli (mooli)Khane Ke Fayde | Muli (Mooli) Benefits In Hindi -

 मूली के कई ऐसे फायदे है जो हमारे लिए बहुत ही अच्छा है। मूली के स्वास्थ लाभ निम्न प्रकार से है। 

 बवासीर में मूली के फायदे -

बवासीर के मरीजों के लिए Mooli फायदेमंद है। अगर आपको बवासीर की सिकायत है तो मूली का सेवन करना चाहिए। इसके नियमित सेवन से बवासीर कंट्रोल हो जाता है। इसको आप कच्चा खा सकते है। या इसके रस का इस्तेमाल कर सकते है। बवासीर परेशान लोगो को जल्द राहत देगा। 

कब्ज में मूली फायदेमंद -  

कब्ज में मूली अच्छा कार्य करता है। यह कब्ज के लिए एक प्रकार से औषधीय है। अगर आपको कब्ज की दिक्कत है तो नियमित रूप से इसका सेवन करे।  सलाद के तौर पर भोजन के साथ ले सकते है। खाने में भी अच्छा स्वाद होता है। लेकिन कुछ लोगो को इसका स्वाद अच्छा नहीं लगता है। 

पीलिया में मूली लाभप्रद -

पीलिया में मूली फायदेमंद है। अगर आपको पीलिया की शिकायत है तो मूली खूब खाये इससे पीलिया जैसे रोग से जल्द राहत मिलेगा। आप चाहे तो कच्चा खा सकते है या इसका रस निकालकर ले सकते है। पीलिया के रिकवरी के लिए मूली काफी प्रभावसाली रूप से कार्य करता है। 

 मधुमेह के रोगियों के लिए मूली -

मूली का सेवन मधुमेह के रोगियों के लिए लाभप्रद साबित हो सकता है। मूली का इस्तेमाल करने से डायबिटीज कम हो जाती है। शुगर के मरीज मूली Muli खा सकते है। और खुद को फिट रख सकते है। 

पेशाब में जलन कम करे -

अगर आपके पेशाब में जलन है तो मूली के ताजे पत्ते का रस और उसके बीज से पेशाब के जलन को कम किया जा सकता है। यह मूत्र को क्लीन कर देता है। जिससे पेशाब साफ है। अगर ऐसी समस्या है तो इसका सेवन कर सकते है। 

किडनी में पथरी को दूर करे -

मूली  का सेवन करने से पेशाब साफ सुथरी होने लगती है। जिसके वजह से किडनी की अच्छी तरह सफाई हो जाती है। उसके साथ पथरी भी निकल जाती है। अगर आप पथरी की समस्या से पीड़ित है तो मूली आपके लिए काफी उपयोगी साबित हो सकता है। 

वजन को कम करे -

मूली खाने से वजन भी कम होता है। कमर और शरीर में अतिरिक्त चर्बी को निकाल कर बाहर कर देता है। जिससे मोटापा धीरे-धीरे कम हो जाता है।

मासिक धर्म को सही करे -

यह मासिक धर्म और इससे होनी वाले कमजोरी को ठीक करता है। अगर औरतो में मासिक धर्म की दिक्कत  है तो इसमें मूली अच्छा कार्य करता है। अगर आप चाहे तो तो कच्चा मूली खा सकते है।

एसिडिटी में मूली -

अगर आप एसिडिटी की समस्या से प्रॉब्लम में है तो मूली के रस का सेवन करे। इसके पत्ते भी चबाकर खा सकते है। यह वायु विकार को दूर करके राहत पहुंचने का कार्य करता है।  

पाचन क्रिया में मूली लाभप्रद -

पाचन संबंधित समस्या में मूली अच्छा कार्य करता है। अगर आप प्रतिदिन मूली खाते है तो गैस, अपच, कच्ची ठेकार में राहत मिलता है। यह कब्ज को दूर करके भूख को खोलने में सहायक है। इसलिए इसे सेवन करना चाहिए। 

पायरिया और मुँह की दुर्गन्ध -

मूली पायरिया को सही करता है। इसके आलावा इसका उपयोग करने से मुँह की दुर्गन्ध भी दूर हो जाती है। यह मुँह के अंदर बैक्टीरिया को ख़त्म कर देता है। मसूड़े भी स्वस्थ होते है। इससे मुँह से निकलने वाली सांसे शुद्ध हो जाती है। 

मूली के बीज के फायदे - mooli ke beej ke fayde -

मूली के बीज स्वास्थ के हिसाब से फायदेमंद होता है। यह कई प्रकार की बीमारियों में काफी उपयोगी साबित हो सकता है। इसका सेवन पेट सम्बंधित बीमारियों के लिए फायदेमंद होता है।

यह किडनी स्टोन, पेशाब में जलन, डायबिटीज की परेशानी के लिए अच्छा कार्य करता है। इसके बीज को औषधीय की तरह उपयोग किया जाता है। मूली के बीज के अंदर कई ऐसे पोषक तत्व पाए जाते है जो बीमारियों से निजात दिलाते है। 

 मूली में पाए जाने वाले तत्व - Mooli Nutritional Value In Hindi -

मूली के अंदर कई ऐसे तत्व पाए जाते है जैसे कि Calcium, Magnesium, Phosphorus, Potassium पाए जाते है। जहां तक विटामिंस की बात है तो Vitamins C और Vitamin B पाया जाता है। इसके आलावा मूली के अंदर 90 प्रतिशत पानी पाया जाता है। 

मूली के सेवन, खाने विधि - How To Use Muli In Hindi -

 1- मूली का सलाद बनाकर खा सकते है। जो हर कोई खाता है। 

2- मूली का सब्जी बनाकर खा सकते है। इसमें मूली के पत्ते और मूली दोनों का इस्तेमाल करे। 

3- मूली कच्चा चबाकर भी खा सकते। 

 4- मूली का रस निकालकर भी सेवन कर सकते है। 

5- मूली का आचार भी बनाकर खाया जाता है। 

6- कुछ लोग मूली का रायता दही के साथ बनाकर खाते है जो स्वादिष्ट भी होता है। 

और भी कई अन्य तरीके से मूली को अपने हिसाब से व्यंजन बनाकर खाते है। 

आखिर में -

मूली एक है बहुत ही गुणकारी सब्जी है। इसका सेवन हमें अवश्य करना चाहिए। लेकिन सर्दी के मौसम में कुछ लोग को खाने में जुखाम की सिकायत हो जाती है। इसलिए जिनको परेशानी हो वह बचे। अब तो आप लोग 'मूली के फायदे' के बारे में अच्छी तरह समझ गए होंगे। 

हमें प्राकृतिक के दिए हुए उपहार फ्रूट्स, सब्जी, का सेवन करना चाहिए। ताकि हमारे जरूरी नुट्रिएंट्स मिल सके और सभी स्वस्थ और खुशहाल रह सके। 


मेरे प्यारे दोस्तों अपने तरफ से अच्छा से अच्छा जानकारी देने की कोशिस करता हूँ। लेकिन कोई जानकारी और सुझाव हो तो, आप दे सकते है। मै आशा करता हूँ कि आप लोगो को यह लेखा अच्छा लगा हो तो जरूर बताइये धन्यवाद।

 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां