सिद्धासन योग के फायदे और विधि, Step And Benefits Of Siddhasana Yoga In Hindi

benefits of siddhasana yoga in hindi

सिद्धासन योग सबसे महत्व पूर्ण योगासन है। यह आसन सभी आसनो में श्रेष्ठ मन जाता है, यह आसन संकल्प का प्रतिक है। यह आसन हजारो वर्ष पहले से ही प्रचलन में है। हमारे योगी, साधु सन्यासी इसी आसन में बैठकर सिद्धिया प्राप्त करते है। यह हमारे सम्पूर्णता का प्रतिक है।  

यह आसन हमें धैर्य रखना सिखाता है। इस आसन का उपयोग हमेशा लोग करते है। यह आसन पूजा, पाठ ध्यान लगाने के लिए भी किया जाता है। तो आइये सिद्धासन करने के तरीके, Step of Sidhdhasana yoga in hindi, और इस योगासन से होने वाले फायदे के बारे में जानते है। 

सिद्धासन योग क्या है ? What Is Sidhdhasana Yoga In Hindi -

सिद्धासन योग किसे कहते है।सिद्ध का मतलब होता है संकल्प, धैर्य, हार न मानने वाला और आसन का मतलब होता है मुद्रा। इसलिए इसे सिद्धासन कहा जाता है। 

यह आसन श्रेष्ठतम आसनो में से एक है। इस आसन को प्रतिदिन करना चाहिए। जैसे सभी प्राणियों में मनुष्य श्रेष्ठ है। उसी तरह सभी आसनो में सिद्धासन योग श्रेष्ठ है। 

सिद्धासन करने के तरीके | Siddhasan Karane Ke Tarike | Sidhdhasan Step In Hindi -

सबसे पहले किसी स्वच्छ जगह का चयन करे, जहा आपको स्वच्छ हवा मिलती हो। 

➤चटाई बिछाकर बैठ जाये। 

➤सबसे पहले पलथी मारकर बैठ जाय, जैसे आप हमेशा बैठते है। 

➤फिर अपने बाए पैर की एड़ियों को दाये जांघ पर चढ़ाए। 

➤उसी प्रकार दाये पैर की एड़ियों को बाए जांघ पर चढ़ाये। 

➤एड़िया को इतना चढ़ाये कि अंडकोष के समीप होना चाहिए। 

➤इसी अवस्था में आप जब तक चाहते है, रह सकते है। 

➤आपका शरीर सीधा होना चाहिए। 

➤सामने की तरफ देखे, रीड़ की हड्डी, गर्दन, और शरीर का संतुलन सीधा रखे। 

➤सामान्य साँस लेते रहे है। 

➤जब आपको लगे कि की सामान्य अवस्था में आना है। तो प्रारंभिक अवस्था में आ सकते है। 

सिद्धासन के फायदे | Siddhasan Ke Fayde | Sidhdhasana Yoga Benefits In Hindi -

◾सिद्धासन योग एकाग्रता बढ़ाने में सहायक है। 

◾यह हमारे दृढ़ इच्छा शक्ति को बढ़ाने में मदत करता है। 

◾पेट के सभी विकारो को दूर करता है। 

◾यह पुरुषो के अंदर वीर्य क्षमता में वृद्धि करता है। 

◾रीड़ की हड्डी, कमर और जांघो के लिए लाभदायक है।       

 ◾यह मानसिक रूप से मजबूत बनाताह है। 

◾धैर्य, और अंदुरुनी शक्ति को तेज करता है। 

◾श्वसन प्रणाली, ह्रदय, मस्तिष्क को तेज करता है। 

◾शरीर के अंदर आतंरिक ऊर्जा को बढ़ाता है। 

सिद्धासन में सावधानिया | Sidhdhasan Me Savdhaniya -

इस आसन को करते समय कुछ सावधानिया बरत सकते है जो बहुत जरूरी है। 

अगर आपको घुटनो में दर्द की सिकायत होतो इसे बिल्कुल न करे। 

कमर दर्द की सिकायत होतो इसे न करे। 

इस योगासन को करने में कोई समस्या महसूस हो रही हो, तो इसे न करे अन्यथा समस्या पैदा हो सकती है। 

किसी योगाचार्य से सलाह ले सकते है या उनके देख-रेख में अभ्यास कर सकते है।     

ध्यान देने योग्य बाते -

कुछ लोगो को यह योगा अभ्यास करने में समस्या हो सकती है। शुरूआती समय में कई लोगो को एड़िया ऊपर नहीं चढ़ पाती और दर्द होने लगता है। वे लोग धीरे-धीरे करने का प्रयास करे।      

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां