गरुणासन के फायदे और तरीके, Step And Benefits Of Garunasana In Hindi


गरुणासन के फायदे और तरीके, Step And Benefits Of Garunasana In Hindi
Photo by RF._.studio from Pexels

गरुणासन के बारे में आज बात करेंगे, यह आसन हमारे शरीर को ऊर्जा प्रदान करने का कार्य करता है। प्राचीन समय में योग का बहुत ही महत्व रहा है। हमारे पुराणों और प्राचीन शास्त्रों में भी योग का जिक्र किया गया है। 

योग ऐसी पद्धति है, जिसके माध्यम से अनेक प्रकार के रोगो का इलाज कर सकते है। अगर योग को अपने जीवन में उतारते है तो, रोग आने से पहले अपने सम्पूर्ण शरीर को स्वस्थ रखा जा सकता है। योग क्रिया के द्वारा आप चाहे शारीरिक हो या मानसिक हो, दोनों प्रकार से स्वस्थ रख सकते है। तो आइये जानते है, गरुणासन के फायदे, Benefits of garunasan in hindi और करने के तरीके के बारे में Steps Of Garunasana In Hindi, लेकिन सबसे  पहले जानते है कि गरुणासन किसे कहते है।   

गरुणासन क्या है ? What Is Garunasana In Hindi-

गरुणासन क्या है इसके बारे में जानते है, जैसा कि नाम से ही प्रतीत हो रहा है, गरुण का मतलब गरुण, एक पक्षी होता है। और आसन का मतलब मुद्रा होता है। और इसीलिए इसे गरुणासन कहते है। यह आसन हमें शांति देता है, और स्वास्थ के लिए लाभ दायक है।

गरुणासन के करने की विधि | Garunasana Karane Ke Tarike | Steps Of Garunasana  In Hindi -

➤सबसे पहले किसी स्वच्छ स्थान का चुनाव करे। और चटाई निकाल कर बैठ जाये। 

➤तरुणासन की मुद्रा में सीधे खड़े हो जाये।

➤अपने बाये पैर के घुटने को मोड़ते हुए दाहिने पैर में लपेटे। 

➤बाये पैर का जांघ दाये पैर पर चढ़ा होना चाहिए, और बाये पैर की अंगुलिया जमीन की तरफ होना चाहिए। 

➤आपका दाहिना पैर जमीन पर होना चाहिए, इसी पर पुरे शरीर का बैलेंस होना चाहिए। 

➤इसी तरह अपने हाथो को भी एक दूसरे से लपेट ले। 

➤ऐसे लपेटे कि एक दूसरे की हथेलिया बिल्कुल आमने-सामने हो। 

➤आपके दोनों हाथ की अंगुलिया ऊपर यानि आकाश की तरफ होनी चाहिए। 

➤लपेटे हुए हाथ को ऊपर की ओर उठाये। और अंदर से खिचाव महसूस करे। 

➤कुछ देर तक उसी अवस्था में रहे और साथ ही साथ हल्की साँस लेते रहे। 

➤कुछ देर बाद अपने पैरो और हाथो को एक दूसरे से अलग करे। 

➤थोड़ी देर के लिए रिलैक्स महसूस करे। 

➤यह क्रिया दोनों पैरो पर बारी-बरी खड़े होकर कर सकते  है। 

गरुणासन के फायदे | Garunasana Ke Fayde | Benefits Of Garunasana In Hindi -

∎ गरुणासन से हाथ, पैर, और बाजुओं, में तागत आती है। 

∎कमर दर्द को भी दूर करने में मदत करता है। 

∎यह कब्ज और गैस की समस्या को दूर करता है। 

∎यह हाथ, पैर को लचीला बनाता है, और हड्डियों को भी तागत देता है। 

∎गरुणासन करने से ऐठन की समस्या दूर होती है। 

∎यह अर्थराइटिस के लिए भी लाभ दायक है। 

गरुणासन करने में सावधानिया | Garunasan Me Savdhaniya |Precaution -

गरुणासन में कुछ सावधानिया बरतनी जरूरी होती है अन्यथा समस्या पैदा हो सकती है। तो आइये देखते है कुछ सावधानिया। 

अगर घुटने में दर्द और सूजन की समस्या हो तो इस आसन को बिल्कुल न करे। 

कमर दर्द या मोच हो तो यह आसन न करे। 

अगर आपको गरुणासन करने में किसी तरह की असहजता महसूस होती है तो न करे। 

गरुणासन का अभ्यास करने से पहले किसी अच्छे योग चार्य से सलाह ले सकते है।           

अगर आपलोगो को यह लेख अच्छा लगा हो तो शेयर और कमेंट करना ना भूले।अगर कोई सलाह है तो आप जरूर बताये।   


   

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ