Anulom Vilom Ke Fayde, अनुलोम विलोम प्राणायाम के फायदे

 
Anulom Vilom Ke Fayde, अनुलोम विलोम प्राणायाम के फायदे

Anulom vilom ke fayde, अनुलोम विलोम प्राणायाम के बारे में बात करते है, अनुलोम विलोम प्राणायाम बहुत ही प्राचीन समय से भारतीय संस्कृति का हिस्सा रहा है । यह प्राणायाम नाड़ी शोधन के लिए किया जाता है, पहले ऋषि मुनि यह प्राणायाम किया करते थे जिसके द्वारा वह स्वस्थ जीवन भी जीते थे। इसको करने से शरीर की सभी नाडिया सुचारू रूप से कार्य करती है।

अनुलोम विलोम के फायदे, Anulom Vilom In Hindi -

जिसके फल स्वरूप शरीर पूरी तरह स्वस्थ रहता है। आज कल के समय में लोग इतनी दवाइयां लेते है, लेकिन प्राचीन काल मे लोग योग और प्राणायाम  के द्वारा ही अपने जीवन को सुखमय रखते थे। अनुलोम विलोम प्राणायाम करने से पुरे शरीर कि सभी नाडिया खूल जाती है जिससे रक्त सुचारू रूप से पूरे शरीर के अंदर संचरण करता रहता है इससे रक्त शुद्ध रहता है। इस प्राणायाम को नियमित रूप से करने से शरीर और मस्तिष्क दोनों स्वस्थ रहता है । अनुलोम विलोम प्राणायाम के फायदे, anulom vilom in hindi  बहुत सारे है।  
तो आइए जानते है कि अनुलोम विलोम करने का सही तरीका क्या है और इसे कैसे करे।

अनुलोम विलोम प्राणायाम करने का सही तरीका, Anulom Vilom Steps In Hindi -


1 - सबसे पहले खूले स्थान का चयन करना चाहिए जहा पर ताजी और स्वच्छ हवा का मिल सके, और जहा का वातावरण बिल्कुल शुद्ध हो ।

2 - चटाई बिछाकर बैठ जाए आसन की मुद्रा में और अपने आपको रिलैक्स महसूस करे, मन को बिल्कुल शांत रखे ,

3 - अपने रीढ़ कि हड्डी को बिल्कुल सीधा रखते हुए सीधे देखे और अपने आंखो को बंद कर ले और ध्यान की मुद्रा में हो जाए।

4 - अनामिका और छोटी अंगुली को नाक के बाएं नासिका पर और अंगूठे को दाए नासिका पर रखे, नासिका मतलब नाक का छिद्र, अब बाए नासिका को दबाए और दाहिना नासिका से सांस ले और इसी प्रकार दाए नासिका को दबाए और बाए नासिका यानी छिद्र से सांस ले ।

5 - श्वास लेने की प्रक्रिया बिल्कुल आराम से होनी चाहिए । 
सांस को जितना हो सके उतना शरीर के अन्दर भरे और फिर अगले छिद्र से निकाले ।

6 - सांस को निकलते समय पेट को अंदर की तरफ ले जाए और जितनी भी हवा हो बाहर की तरफ निकाले ।

7 - अनुलोम विलोम की क्रिया तब तक आप कर सकते  है जब तक आप खुद को अच्छा महसूस कर रहे है ।जबर्जस्ती करने का प्रयास न करे ।

8 - आप इस प्राणायाम अनुलोम विलोम को तब तक ही करे जब तक कि आप से हो सकता है ।

9 - थका हुआ महसूस करने पर अनुलोम विलोम प्राणायाम न करे सांस की गति को समान भाव में अंदर बाहर करते रहे ।

अनुलोम विलोम प्राणायाम करते समय ये बाते ध्यान दे - anulom vilom pranayam ke fayde और  ध्यान देने योग्य बातें - 

- अनुलोम विलोम प्राणायाम करते समय खाली पेट होना चाहिए जो उत्तम माना जाता है ।

- कोशिश करे कि ताजी हवा में ही प्राणायाम करे या फिर गार्डन या बगीचे में कर सकते है जहा आपको शुद्ध हवा मिले ।

- इस आसन को करते समय मन को प्रसन्न चित्त रखे और बिल्कुल शांत रहे ।

- सांस तभी तक अन्दर बाहर करे जब तक थकान महसूस न हो ।

अनुलोम विलोम प्राणायाम या नाड़ी शोधन प्राणायाम के फायदे -

यह प्राणायाम करने से मन शांत रहता है और चेहरे पर चमक बनी रहती है ।

अनुलोम विलोम प्राणायाम प्रतिदिन करने से मन एकाग्रचित रहता है और ध्यान केंद्रित करने की शक्ति बड़ जाती है ।

इस प्राणायाम को नाड़ी शोधन भी कहा जाता है इसका मतलब की हमारे शरीर के सभी नाड़ी को शोधन का कार्य करता है। 

नाड़ी के अंदर किसी भी तरह की रुकावट हो तो इस प्राणायाम को करने से पूरी तरह खूल जाता है ।

शरीर में रक्त संचार को सामान्य बनाए रखने में फायदेमंद होता है ।

यह हमारे फेफड़ों के लिए भी अत्यंत फायदेमंद है इस अनुलोम विलोम प्राणायाम को करने से शरीर में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन पहुंचता है ।

इस प्राणायाम को करने से प्राण शक्ति भी मजबूत होती है, हमारे अंदर ऊर्जा और साहस का संचार होता है ।

यह हमारे शरीर के सभी नाड़ी यो को शुद्ध करता है उसमे जो भी रुकावट है उसको खत्म कर देता है ।
अनुलोम विलोम प्राणायाम के फायदे और ध्यान देने योग्य बाते आपको स्वास्थ लाभ पहुँचाती है. 
anulom vilom in hindi, anulom vilom pranayam ke fayde, 

 क्या अनुलोम विलोम प्राणायाम के नुकसान होते है -

अनुलोम विलोम प्राणायाम करने से किसी भी प्रकार की शारीरिक समस्या नहीं होती है यह प्राणायाम स्वस्थ के लिए लाभदायक है, क्योंकि की यह प्राणायाम श्वसन क्रिया पर आधारित है इसलिए इसका अभ्यास नित्य आप कर सकत है। जब भी करे खाली पेट ताजी हवा में ही करे ताकि आपको अच्छा लाभ प्राप्त हो सके ।
यह सबसे आसान प्राणायाम है जो कोई भी आसानी से कर सकता है

अगर चाहे तो प्राणायाम को करने से पहले किसी अच्छे योगाचार्य से सलाह अवश्य लें सकते  ताकि इसकी बारीकियों के बारे में सही से पता चल सके। किसी योगाचार्य के सलाह अनुसार करना ज्यादा सही रहता है ।

नोट - Anulom vilom ke fayde, अनुलोम विलोम के फायदे यह जानकारी आपको कैसी लगी कमेंट करके बताइये धन्यवाद। 














टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां