Health care tips for winter season in hindi   सर्दियो में फिट रहने के लिए जरूरी उपाय
women in winter

 सर्दी के मौसम में हमें अपने शरीर का देखभाल करना बहुत ही जरूरी है वैसे तो सर्दी का मौसम   में खाने पीने का आनंद होता है लेकिन हेल्थ का थोड़ा केयर भी करना होता है सर्दी के मौसम में जो भी आहार लेते है वो आसानी से पच  जाता है।आहार में हरी सब्जिया भी इस  मौसम में पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध होती है ,सर्दी का मौसम खाने पीने और घूमने की दृष्टि से काफी अच्छा होता है लेकीन कुछ सावधानिया भी रखनी पड़ती है जैसे की सुबह और शाम थोड़ी हल्की ठंड होती है उस वक्त हमें गर्म कपडे पहनने चाहिए जिससे ठंड से बच जा सके। अगर केयर न करे तो सर्दी लग सकती है और खाँसी भी शिकायत हो सकती है इसलिए हमें अपने आप का केयर अवश्य करना चाहिए। 
छोटे बच्चो का ज्यादा ध्यान रखना चाहिए जो बहुत ही जरूरी बड़ो की अपेच्छा छोटे बच्चे जल्द सर्दी की चपेट में  आते है इसलिए बच्चो का देखभाल रखना आवश्यक है। 

सर्दी के मौसम में बच्चो का केयर -

सर्दी के मौसम में बच्चो को निम्न सावधानियाँ बर्तनी चाहिए। 

सुबह और शाम के समय अच्छी तरह से  गर्म कपड़े  पहनाकर रखे। 

दुध जब भी पिलाये हल्का कुनकुना या हल्का गर्म दुध पिलाए। 

बच्चों  को कोई भी आहार दे तो ध्यान दे ज्यादा ठंडा न हो 

रात  को सोते समय ध्यान दे जब भी बच्चा पेशाब करे गीले कपडे तुरंत बदले 

बच्चो को  ठंडे पानी से दूर रखे।

सर्दी के मौसम मे  बच्चो का देखभाल नियमित रूप से करना चाहिए नहीं तो खाँसी  जुखाम  एवं निमोनियाँ हो सकता है इससे  बच्चो के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ेगा।

बुजुर्गो को  भी सर्दी के मौसम में अपने स्वास्थ्य  ध्यान रखना चाहिए जिससे वह सर्दी  से बच सके। नहीं तो  सर्दी जुखाम व् कफ की समस्या हो सकती है। और कफ के वजह से साँस भी फूलने लगती है। सुबह और शाम के समय गर्म कपड़े अवश्य पहने जिससे किसी भी तकलीफ से बचा जा सके। निम्न प्रकार उपायों  से सर्दी के मौसम  मे चुस्त व् दुरुस्त रख सकते है।

Snow on Tree

बुजुर्गो को  सावधानियाँ रखनी चाहिए -

सर्दी के मौसम  में  बुजुर्गो को हल्का कुनकुना या हल्का गर्म पानी का सेवन करना चाहिए।

सुबह और शाम को हल्का गर्म तेल से पुरे शरीर का मालिश करे

फलो का सेवन कम करे या धूप निकलने के बाद फलो का सेवन करे।

हल्का कुनकुना या ताजे पानी में स्नान करे अन्यथा जोड़ो में दर्द की शिकायत हो सकती है।

ठन्डे पानी और ठंडे चावल का सेवन न करे।

प्रतिदिन  धुप का सेवन करे जिससे शरीर को विटामिन डी भरपूर मात्रा मिले जिससे जोड़ो के दर्द में राहत मिलती है।
सर्दी के मौसम में टहलने से जोड़ो के दर्द में रहत मिलता है और ब्लड सर्क्युलेशन सामान्य बना रहता है। इसलिए टहलना लाभ दायक है।


सर्दी के मौसम में त्वचा की देखभाल -

सर्दी के मौसम में  त्वचा का देखभाल जरूर करना चाहिए अन्यथा त्वचा में रूखापन एवं एलर्जी की शिकायत हो सकती है जिससे त्वचा पर दाने और खुजली की शिकायत भी  हो सकती है। आहे है इससे बचने के लिए
निम्न बातो का ध्यान रख सकते है।

सर्दी के मौसम में ताजे पानी से नहाना चाहिए ताकि त्वचा मुलायम बनी रहे।और आप अंदर से अच्छा महसूस कर पाए। 

ठंडे पानी  से बिल्कुल नहीं नहाना चाहिए नहीं तो त्वचा में रूखापन की समस्या पैदा हो सकती है

नहाने से पहले पुरे शरीर में तेल का मालिश करे फिर स्नान करे ताकि त्वचा में नमी बनी रहे।जिससे शरीर पूरा दिन तरो तजा बना  रहे। 

शरीर में बॉडी लोशन का इस्तेमाल करे ताकि त्वचा मुलायम रहे।जिससे बाहरी सर्द  हवाएं त्वचा के अंदर नहीं जा पाती  है जिससे हमारे त्वचा की नमी बरकरार रहती  है। 

त्वचा की देखभाल के लिए विंटर क्रीम का प्रयोग करे ताकि त्वचा की नमी बरक़रार रख सके।

सर्द और ठंड हवाओं से बचे ताकि त्वचा की नमी बनी रहे।जब सर्द  हवाएं  हमारे स्किन पर पड़ती है तो त्वचा की नमी ख़त्म हो जाती है जिससे त्वचा में रूखापन पैदा हो जाता है  

सर्दी के मौसम में ज्यादा साबुन का उपयोग नहीं करना चाहिए अन्यथा आपके त्वचा में रूखा पन की समस्या पैदा हो जाएगी।जितना हो सके सर्दी के मौसम में कम से कम साबुन का इस्तेमाल करे। 

सर्दी के मौसम एड़ियाँ भी फटने लगती है इसके लिए वैसेलिन एवं नारियल तेल का इतेमाल करे और ज्यादा ठन्डे पानी से पैर को बचाये। 

ओंठो पर वेसेलिन का प्रयोग करे। जिससे फटने की समस्या से निजात मिले और आपका लिप्स मुलायम बना रहे।


सर्दी के मौसम फिट रहने के उपाय -

वैसे सर्दी का मौसम बहुत ही प्यारा खास कर खाने पीने के लिए तो बहुत बढ़िया होता है चाहे कुछ भी खाओ आसानी से पच जाता है लेकिन कुछ उपाय है जिससे आप अपने आपको फिट रख सकते है।  सर्दी के मौसम में फिट रखने के लिए आवश्यक बातें 

सर्दी के मौसम सुबह उठने के बाद कुनकुना पानी जरूर पिए जिससे आपका पेट साफ रहे और ब्लड सर्कुलेशन सामान्य बना रहे। 

सर्दी के मौसम में ठन्डे फलो का इस्तेमाल कम करे या धुप निकलने के बाद इस्तेमाल करे। अन्यथा खांसी जुखाम और छींक हो सकती है। 

इस मौसम में पानी पीने  का ध्यान देना चाहिए क्योकि प्यास का पता नहीं चलता न ही प्यास लगाती है।   इसलिए थोड़ा -थोड़ा करके पानी पीना चाहिए चाहे प्यास लगे या न लगे।अन्यथा शरीर में पानी की कमी भी हो सकती है। 

 सुबह और साम व्यायाम और टहलना चाहिए जो स्वास्थ  के लिए फायदेमंद है।खास कर उन मरीजों को जोड़ो के दर्द और हाथ पैर में अकड़न की सिकायत से परेसान है उन मरीजों को सुबह साम टहलना बहुत ही ज्यादा फायदेमंद है।  

जिन लोगो को कफ और वायरल इन्फेक्शन जल्दी होने की संभावना होती है उन मरीजों को अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान रखना चाहिए। ऐसे मरीजों को सर्द हवाओं से दूर रहना चाहिए अन्यथा साँस फूलने व् साँस लेने में दिक्क्त हो सकती है इसके लिए वे घरेलु उपायों से कुछ हद तक राहत पा सकते है जैसे की अदरक ,काली मिर्च ,तुलसी पत्ता का काढ़ा  बनाकर पीने  से सर्दी खाँसी में राहत मिलती है। 

बी पी एवं हार्ट के मरीजों को भी अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना चाहिए कोशिश करे की ठंड से बचे यह आपके लिए बहुत ही जरूरी है। 


इन सभी बातो का ध्यान रख कर आप अपने आपको को स्वस्थ्य रख सकते है और सर्दी के मौसम का आनंद ले सकते है। सर्दी का मौसम स्वास्थ्य के हिसाब से काफी अच्छा माना  जाता है लेकिन जरूरत है कुछ सावधानियों की जिसको दूर करके अपने आप को फिट रख सकते है। 

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो आप लोगो से आग्रह है कि इसको जरूर शेयर करे और अपनी राय भी दे अगर कोई कमी होगी तो सुधारने की कोशिश करूँगा। 



Life changing motivational thought जीवन को बदलने वाला सोच 

आपका अपने  पर कंट्रोल