sehne ki sakti
सम्मान
कभी कभार किसी की बातो को बर्दाश्त करना पड़ता है। वह इसलिए क्योकि हम सामने वाले व्यक्ति का सम्मान करते है ,और हमें सम्मान करना चाहिए ,क्योकि वह हमारे लिए सामने वाले को इज्जत देने का तरीका प्रदर्शित करता है जिससे हमारे द्वारा उनको सम्मान मिलता है ,हमको देना भी चाहिए ,और उसको बर्दाश्त करना चाहिए भी ,लेकिन किसी की बातो इतना भी बर्दाश्त मत करो की अपना खुद का सम्मान भी खत्म हो जाय। हमें उतना ही किसी की बातो को सहना चाहिए ,जब तक की  वह सम्मान देने लायक बाते करता है। अगर वह सम्मान देने लायक बाते नहीं करता तो उसकी बातो को नहीं सहना चाहिए। कभी कभार हम लोग देखते है की कोई व्यक्ति किसी व्यक्ति का बहुत ही आदर और सम्मान करता है ,तो वह व्यक्ति समझता है क़ि सामने वाला जो हमारी बातो को बर्दाश्त कर रहा है।वह हमसे कमजोर है। लेकिन ऐसा होता नहीं है, वह आपकी बातो का इसलिए इज्जत करता है की शायद आप उससे उम्र में बड़े होंगे ,या अगर वह कही नौकरी कर रहा है तो आप उससे पद में बड़े होंगे इसलिए वो आपकी इज्जत करता है और उसको इज्जत करना भी चाहिए लेकिन यह कभी नहीं सोचना चाहिए कि वह हमसे कमजोर है इसलिए हमारी इज्जत कर रहा है। यह सोचना आपकी भूल है ,हमें किसी को तभी तक सम्मान देना चाहिए जब तक कि वह हमें अपनापन महसूस कराता है।             
लेकिन वह इसका फायदा उठा करके सामने वाले को हर जगह बेइज्जत करता है तो इस स्थिति में हमें उसका सम्मान नहीं करना चाहिए क्योकि सम्मान की भी एक मर्यादा होती है ,अगर कोई उस मर्यादा को खो देता है तो अपना अहमियत वह स्वयं खत्म करता है। इसलिए अपना सम्मान खुद करना पड़ता है।,अगर आप स्वयं का सम्मान नहीं करते है तो दूसरा आपका सम्मान कभी नहीं कर सकता,यही सच है। इसलिए हमें सम्मान जरूर देना चाहिए और किसी की बातो को भी बर्दाश्त करना चाहिए लेकिन तभी तक जब तक कि वह सही है। हमें तभी उसका सम्मान करना चाहिए जब तक की हमें लगे की वह सही बोल रहा है।
हमें सभी से प्यार करना चाहिए और सभी को सम्मान देना चाहिए, सभी की बातो को कुछ हद तक सहना भी चाहिए ,जिसे हमें भी सम्मान मिलता है। 
 लेकिन अगर आप सम्मान दे रहे हैं और उसका वह गलत फायदा उठा रहा है और,हमारी भावनाओ का क़द्र नहीं करता है ,और हर जगह हमें जलील करता है इस स्थिति में हमें उसे जवाब देना चाहिए। 
 चुप नहीं बैठना चाहिए।अगर ऐसा आप करते है तो निश्चित रूप से आपको सम्मान मिलेगा और आपका खुद का व्यक्तित्व भी अच्छा  हो जायेगा।और आपकी बातो को भी सम्मान मिलेगा।


और आर्टिकल पढ़े-
Nakaratmak Man Se Sakaratmak Man Ki Taraf
हमारे जीवन की कड़वी बात HAMARE JEEVAN KI KADAVI BAAT